जानें, क्यों किया जाता है महालक्ष्मी व्रत? ये है महत्व

Spread the love

आज भादो शुक्ल पक्ष की अष्टमी और सोमवार है. आश्विन संक्रांति है और सूर्य कन्या राशि में होंगे इस बार की पवित्र संक्रांति बहुत लाभ देगी, क्योंकि सूर्य उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में हैं. इसलिए यह एक बहुत खास दिन बन गया है.

आज से महालक्ष्मी व्रत शुरू हो रहा है. 16 दिनों तक महिलाएं यह व्रत करती हैं. ये व्रत पुरुष भी रख सकते हैं. इस दिन सभी को मन से लक्ष्मी जी की पूजा करनी चाहिए. ऐसा करने से धन लाभ होता है. साथ ही संतान का सुख और परिवार की खुशहाली मिलती है.

भादो शुक्ल पक्ष की अष्टमी से आश्विन मास कृष्ण की अष्टमी तक लक्ष्मी व्रत पूजा होती है. अगर 16 दिन व्रत नहीं कर सकते हैं तो लक्ष्मी जी की पूजा पाठ करें. अगले 2 अक्टूबर को ही यह लक्ष्मी व्रत पूजा खत्म होगी.