राखी पर दुर्लभ योग:11 अगस्त 1547 आया था ऐसा संयोग, सूर्य, मंगल और बुध सिंह राशि में और शुक्र मिथुन राशि में

Spread the love

सावन पूर्णिमा पर चंद्र-गुरु बनाएंगे गजकेसरी योग, सुबह 5.38 पर खत्म हो जाएगी भद्रा

रविवार, 22 अगस्त को रक्षाबंधन मनाया जाएगा। सामान्यत: ये पर्व श्रवण नक्षत्र में मनता है, लेकिन इस बार राखी पर धनिष्ठा नक्षत्र रहेगा। गुरु कुंभ राशि में वक्री है और इसके साथ चंद्र भी रहेगा। इन ग्रहों की वजह से गजकेसरी योग बन रहा है।

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के मुताबिक इस साल रक्षाबंधन पर सूर्य, मंगल और बुध सिंह राशि में रहेंगे। सिंह राशि का स्वामी सूर्य ही है। इस राशि में उसका मित्र मंगल भी रहेगा है। इस दिन शुक्र कन्या राशि में रहेगा। ग्रहों के ये योग शुभ फल देने वाले हैं। ऐसा योग 2021 से 474 साल पहले बना था। 11 अगस्त 1547 को धनिष्ठा नक्षत्र में रक्षाबंधन मनाया गया था और सूर्य, मंगल, बुध की ऐसी ही स्थिति थी। उस समय शुक्र बुध की मिथुन राशि में था, जबकि इस साल शुक्र बुध ग्रह की ही कन्या राशि में स्थित है।

इस साल नहीं रहेगी भद्रा

इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा है ही नहीं। 22 अगस्त की सुबह 5.38 बजे भद्रा खत्म हो जाएगी। इस वजह से दिनभर रक्षाबंधन मनाया जा सकेगा। रक्षाबंधन पर पंचक रहेगा, लेकिन इस त्योहार पर पंचक होना अशुभ नहीं माना जाता है।

रक्षाबंधन पर रक्षासूत्र बांधने की है परंपरा

नकारात्मकता और दुर्भाग्य से रक्षा लिए रक्षासूत्र बांधा जाता है। रक्षासूत्र पहनने वाले व्यक्ति विचार सकारात्मक होते हैं और मन शांत रहता है। ऐसी मान्यता है। यह रक्षासूत्र बहन अपने भाई की कलाई पर बांधती है। इस दिन गुरु अपने शिष्य को, पत्नि अपने पति को भी रक्षासूत्र बांध सकती है।

जानिए सभी 12 चंद्र राशियों पर कैसा रहेगा इन ग्रह योगों का असर

मेष– आय में वृद्धि एवं कार्य में सफलता प्राप्त होगी। सहयोग मिलेगा।

वृषभ– कार्य की अधिकता होगी। नए काम प्राप्त होंगे। माता-पिता से सहयोग मिलेगा।

मिथुन– मंगलवार की दोपहर तक भाग्य का साथ रहेगा। अड़चनें समाप्त होंगी। यात्राएं सुखद होंगी।

कर्क– मंगलवार की दोपहर तक बेकार के कार्यों में समय व्यय होगा। आय कम रहेगी।

सिंह– राशि स्वामी सूर्य शक्ति प्रदान कर रहा है। विरोधी दबे रहेंगे। संतान खुशी देगी और विवादों में जीत मिलेगी।

कन्या- समय अच्छा रहेगा। अच्छी आय के साथ सम्मान भी मिलेगा। विरोधी शांत रहेंगे।

तुला- भाग्य का साथ मिलेगा। संतान से सुख प्राप्त होगा। आय अच्छी रहेगी। कार्य की अधिकता भी होगी।

वृश्चिक– काम ज्यादा रहेगा। जल्दबाजी से नुकसान होने की संभावनाएं हैं। बेकार के कार्यों में समय भी बर्बाद होगा।

धनु- जिम्मेदारियां ठीक से निभा पाएंगे। भाइयों से सहयोग मिलेगी। भाग्य का साथ रहेगा और आय भी अच्छी रहेगी।

मकर– पुरानी आर्थिक समस्याएं दूर होंगी। स्थाई धन-संपत्ति में वृद्धि का योग बनेगा। बड़े काम बनने के आसार हैं।

कुंभ– गुरु का गोचर अच्छी आय प्रदान करेगा। कार्य में सफलता मिलेगी। सरकारी कार्यों से धन लाभ हो सकता है।

मीन– समय सामान्य रहेगा। सोची हुई योजना सफल नहीं होगी। आय में भी रुकावट रहेगी।