ज्योतिष:18 अक्टूबर को गुरु की बदल रही है चाल, राशि अनुसार जानिए क्या करें और क्या नहीं

Spread the love

सोमवार, 18 अक्टूबर को देवगुरु बृहस्पति मकर राशि में वक्री से मार्गी हो जाएगा। मकर गुरु की नीच राशि है। मकर राशि में स्वामी शनि भी स्थित है। गुरु-शनि की ये जोड़ी 20 नवंबर तक बनी रहेगी। इसके बाद गुरु मकर राशि से निकल कुंभ राशि में प्रवेश करेगा।

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार गुरु ग्रह की स्थिति भारत के लिए शुभ रहेगी। स्वतंत्र भारत की कुंडली के अनुसार देश की राशि कर्क है। गुरु के मार्गी हो जाने से भय की स्थिति खत्म होगी। अस्थिरता खत्म होगी। सरकार का विरोध करने वाले लोग ज्यादा सक्रिय हो जाएंगे। कई लोगों के पुराने रोग फिर से उभर सकते हैं। व्यापार में सुधार आएगा। जानिए राशि अनुसार क्या करें और क्या नहीं…

मेष – इस राशि के लोग योजनाओं में जरूरी बदलाव करें। बिना सोचे-समझे कोई काम न करें। भगवान विष्णु को पुष्पहार समर्पित करें।

वृषभ – अपना प्रभाव बढ़ाने के लिए कड़ी मेहनत करें। वाद-विवाद से बचें। भगवान विष्णु को सवा किलो घी चढ़ाएं।

मिथुन- परेशानियां कम करने के लिए किसी योग्य व्यक्ति से सलाह लें। काम करते समय लापरवाही न करें। विष्णु जी की पूजा करें और फल चढ़ाएं।

कर्क – आय बढ़ाने की कोशिश करें। कार्य स्थल पर भी विवाद करने से बचें। विष्णु जी के सामने घी का दीपक जलाएं।

सिंह – नकारात्मकता से बचें। परिवार की मदद लेकर काम करें। ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय का जाप करें।

कन्या – यह समय गलतियां सुधारने का है। करीबी लोगों को नजरअंदाज न करें। विष्णु जी को शदह चढ़ाएं।

तुला – नुकसान की भरपाई के लिए किसी विशेषज्ञ की मदद लें। लापरवाही से बचें। गुरुवार को चने का दान करें और विष्णु जी को हल्दी चढ़ाएं।

वृश्चिक – रिश्तेदारों से संबंध सुधारने की कोशिश करें। स्वास्थ्य के संबंध में सतर्क रहें। केले की जड़ में विष्णु प्रतिमा रखकर पूजन करें।

धनु – दोस्तों की मदद लेकर पुरानी समस्याएं खत्म हो सकती हैं। विवाह संबंधी काम में बड़े लोगों से सलाह अवश्य लें। विष्णु जी केले चढ़ाएं।

मकर – धर्म संबंधी कामों में दान करें। जरूरी कामों में एकाग्रता बनाए रखें। विष्णु को हल्दी मिश्रित जल चढ़ाएं।

कुंभ – असफल होने पर फिर से कोशिश जरूर करें। आत्मविश्वास कमजोर न होने दें। शिवलिंग पर चने की दाल चढ़ाएं।

मीन – व्यर्थ कामों में समय बर्बाद न करें। जरूरतमंद लोगों की मदद जरूर करें। विष्णु जी को पीले वस्त्र चढ़ाएं।